आज की देश विदेश की बड़ी खबर

तुर्की और ग्रीस मे बढ़ते झगड़े में कौन देश किसके साथ है

turki and greesh
तुर्की और ग्रीस मे बढ़ते झगड़े में कौन देश किसके साथ है

पिछले कुछ हफ़्तों से कुछ देशो में तनाव बढ़ रहा है. इसकी शुरुआत ऊर्जा संसाधनों की एक साधारण सी दिखने वाली होड़ से हुई.

तुर्की ने नौसेना की सुरक्षा के साथ एक गैस खोजी अभियान चलाया. यहां पर तुर्की का ग्रीस के आमना-सामना हो चुका था मगर अब फ्रांस भी ग्रीस के पक्ष में उतर आया है.| और खुल कर ग्रीस का समर्थन कर रहा है |

इसी बीच यूएई की ओर से ग्रीस का साथ देने लिए कुछ एफ़-16 विमान क्रेटे एयरबेस पर भेजने का एलान किया गया. हालांकि, इसे एक रूटीन तैनाती बताया जा रहा है. लेकिन या साफ दिख रहा है | यह युद्ध हुआ तो ग्रीस का साथ देगा |

उधर तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन का कहना है कि ‘तुर्की एक क़दम भी पीछे नहीं हटेगा| लेकिन आख़िर यहां क्या हो रहा है? क्या यह तनाव गैस रिसोर्स को लेकर है? दूर-दराज़ के देश इस क्षेत्र की ओर क्यों आकर्षित हो रहे हैं? अब पूरे विश्व की नजर तुर्की और ग्रीस के बीच बढ़ते झगड़े पर टिके हुई है

चीन के ख़िलाफ़ भारत के पास सैन्य विकल्प मौजूद हैं

भारत के चीफ़ ऑफ़ डिफ़ेंस स्टाफ़ जनरल बिपिन रावत की एक टिप्पणी ने अधिकतर अख़बारों के पहले पन्ने पर जगह बनाई और साथ ही इस पर ख़ासी चर्चाएं भी हुईं.

इसमें उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा था, “लद्दाख में चीनी सेना के अतिक्रमण से निपटने के लिए सैन्य विकल्प भी है लेकिन यह तभी अपनाया जाएगा जब सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर वार्ता विफल रहेगी.” आज तक भारत ने कभी भी पहल नहीं की और ना करे गए |

रक्षा सेवा में रहे दिग्गजों ने शायद ही उनके इस बयान पर भौंहें चढ़ाई हों.

सेना के उत्तरी कमान के प्रमुख रहे लेफ़्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डी.एस. हुड्डा ने कहा, “क्या सीडीएस कह सकते हैं कि सैन्य विकल्प मौजूद नहीं हैं? मुझे लगता है कि वो केवल तथ्य बता रहे थे.”

भारतीय वायु सेना के उप-प्रमुख पद से रिटायर होने वाले एयर मार्शल अनिल खोसला कहते हैं, “सीडीएस ने जो कहा, मुझे उसमें कुछ भी ग़लत नहीं लगा. यह एक नपा-तुला बयान था और मुझे लगता है कि यह थोड़ा पहले आ जाना चाहिए था

मोटे लोगों पर कम असरदार हो सकती है कोरोना वैक्सीन|

मोटे लोगों पर कम असरदार हो सकती है कोरोना वैक्सीन
मोटे लोगों पर कम असरदार हो सकती है कोरोना वैक्सीन

मोटे लोगों पर कोरोना को खतरा ज्यादा|
एक शोध के मुताबिक़, कोरोना संक्रमित होने पर इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने की नौबत आने का ख़तरा उन लोगों को ज़्यादा है, जो मोटापे के शिकार हैं. उन्हें यह ख़तरा सामान्य लोगों की तुलना में दोगुना ज़्यादा है.कुयूके कोरोना वैक्सीन मोटे लोगो पर काम अशरदार है |

यूनिवर्सिटी ऑफ़ नॉर्थ कैरोलिना की एक टीम ने दुनिया भर में क़रीब चार लाख लोगों पर किए गए 75 शोधों के डेटा का अध्ययन किया है. यह पता लगाय है |

अमरीकी शोधकर्ताओं का कहना है कि मोटापे के कारण डायबिटीज़ और हाई ब्लड प्रेशर का ख़तरा बढ़ जाता है. अगर इम्यून सिस्टम कमज़ोर हो तो संक्रमित व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार पड़ सकता है.

ऐसी आशंका भी जताई गई है कि मोटे लोगों पर संभावित वैक्सीन भी कम असरदार हो सकती है.ऐसा इसलिए क्योंकि फ्लू का टीका भी 30 से अधिक बीएमआई वाले लोगों पर सही से काम नहीं करता.

मेरे बेटे को ज़हर पिला रही थी रिया चक्रवर्ती, हत्यारी है-सुशांत राजपूत के पिता

राजपूत केस में प्रवर्तन निदेशालय के चलते ड्रग्स इस्तेमाल का नया एंगल (drugs use allegations) आ सामने आ गया है. मामले में जांच का सामना कर रहीं एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) के खिलाफ अब ड्र्ग्स इस्तेमाल के खिलाफ जांच होने वाली है. इसपर सुशांत के पिता कृष्ण कुमार सिंह का बयान आया है.

उन्होंने रिया चक्रवर्ती पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके बेटे को लंबे समय से जहर पिलाया जा रहा था. उन्होंने रिया को ‘हत्यारी’ तक कहा.न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में केके सिंह ने कहा, ‘रिया मेरे बेटे को लंबे समय से जहर पिला रही थी. वो हत्यारी है.

जांच एजेंसी को चाहिए कि रिया और उसके सहयोगियों को अविलंब गिरफ्तार करे और उसे सजा दिलाएं

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *